# कर्म बड़ा या भाग्य ?

Originally posted on Retiredकलम: दोस्तों, आज मुझे अपने बचपन के दिनों का वाकया याद आ रहा है | तब मैं स्कूल में पढ़ता था | दोपहर ?में स्कूल से आने के बाद खाना खा कर सो जाया? करता था | शाम के समय मुझे? घर से बाहर खेलने की इजाजत मिलती थी |? उन दिनों…

# कर्म बड़ा या भाग्य ?

One thought on “# कर्म बड़ा या भाग्य ?

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

Create your website with WordPress.com
प्रारंभ करें
%d bloggers like this: